रौद्र रूप में आयी सेना, कश्मीर में शुरू किया ऑपरेशन शिवा, खोज खोज कर निकाल रहे आतंकियों को


Image result for kashmiris beaten indian army

अमरनाथ श्रद्धालुओं पर हमले के बाद सेना ने बड़े पैमाने पर कश्मीर में ऑपरेशन शिवा शुरू कर दिया है।

इस ऑपरेशन के दौरान सेना के जवान आतंकियों के ठिकानों पर लगातार छापेमारी कर रहे हैं। वहीं सेना का मानना है कि लश्कर के आतंकियों ने इस हमले को अंजाम दिया था। ऐसे में लश्कर का जो भी आतंकी दिख रहा है उसे तुरंत मार गिराया जा रहा है। अब तक सेना के जवान तीन आतंकियों को मार गिराने में सफल हुए हैं।

सूत्रों ने बताया कि मंगलवार सुबह शुरू हुए अभियान के सुरक्षाबल आतंकियों के ठिकानों पर दबिश दे रहे हैं। श्रीनगर से सटे विभिन्न हिस्सों में भी सुरक्षाबलों ने तलाशी ली। यात्रा मार्ग के पहाड़ों और जंगली इलाकों में सेना के जवानों द्वारा खोजी कुत्तों की सहायता से भी तलाशी ली जा रही है। अभियान की रूपरेखा राज्य पुलिस, सेना और सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारियों ने खुफिया तंत्र के इनपुट के आधार पर तय की है।

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक मुनीर अहमद खान ने ऑपरेशन शिवा के बारे में कुछ भी बताने से इनकार करते हुए कहा कि हमने पूरे सिक्योरिटी ग्रिड की नए सिरे से समीक्षा की है। हमले में लिप्त आतंकियों व उनके ओवरग्राउंड नेटवर्क को जिंदा अथवा मुर्दा पकड़ने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए गए हैं। 

उन्होंने कहा कि हमले में लिप्त लश्कर के चार आतंकियों में एक पाकिस्तान का रहने वाला इस्माइल है। उसके साथ एक और पाकिस्तानी आतंकी भी था, जबकि दो आतंकी स्थानीय ही हैं। कुछ संदिग्ध तत्वों को पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिया गया है। जल्द ही हमारा यह अभियान कामयाब होगा।

आतंकी हमले के बाद हाईवे पर सुरक्षाबलों की तैनाती की समयावधि को बढ़ा दिया गया है। शाम साढ़े चार बजे के बाद श्रद्धालुओं का कोई भी वाहन दक्षिण कश्मीर में मीरबाजार से आगे यात्रा मार्ग की तरफ नहीं जाएगा। यात्रा मार्ग पर स्थित सभी संवेदनशील इलाकों में इलेक्ट्रानिक सर्विलांस के साथ इंटेलीजेंस नेटवर्क को बढ़ाया गया है।

यात्रा मार्ग पर करीब 30 हजार पुलिस व अर्धसैनिक बलों के जवान लगाए गए हैं। मंगलवार सुबह यात्रा मार्ग की सुरक्षा व्यवस्था को नए सिरे से तय किया गया। संबंधित अधिकारियों ने बताया कि श्रद्धालुओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। ये प्रमुख कदम उठाए यात्रा में शरारतीतत्व किसी तरह से विघ्न न डाल सकें, इसके लिए सीसीटीवी कैमरों से दिनभर जमा की गई तस्वीरों और वीडियो फुटेज को सुरक्षाकर्मियों का एक दल खंगालेगा।